'बजट का बड़ा हिस्सा समय पर खर्च किया'

बीएस संवाददाता | लखनऊ Mar 22, 2018 09:49 PM IST

उत्तर प्रदेश विधानसभा में बजट पर हो रही चर्चा में आज मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पिछली सरकारों से उलट उनकी सरकार में बजट का अधिकांश हिस्सा समय रहते जारी किया गया और खर्च भी हुआ। उन्होंने कहा कि राजकोषीय उत्तरदायित्व एवं वित्तीय प्रबंधन (एफआरबीएम) के प्रावधानों का पालन करते हुए उनकी सरकार ने खर्च और बजट घाटा काबू में रखा। अपने पिछले बजट के आवंटनों व खर्च का ब्यौरा पेश करते हुए योगी ने सदन में कहा कि लोक कल्याण से जुड़े ज्यादातर विभागों जैसे कृषि, खाद्य एवं रसद में सौ फीसदी, तो स्वास्थ्य एवं चिकित्सा में तीन चौथाई बजट मार्च के दूसरे सप्ताह तक खर्च किया जा चुका था। उन्होंने कहा कि इस बार बजट न केवल समय से पहले पेश किया बल्कि उसे वित्त वर्ष के समाप्त होने से पहले पारित करवा कर जारी करने की प्रक्रिया अगले माह से शुरू हो जाएगी। 
 
प्रधानमंत्री आवास योजना का जिक्र करते हुए योगी ने कहा कि पिछली प्रदेश सरकार में वर्ष 2014 से 2017 तक इसके तहत 50,000 मकान भी नहीं बने, जबकि हमारी सरकार में महज एक साल में 8.85 लाख मकान बनाकर गरीबों को सौंपे गए। अब अगले साल प्रदेश सरकार इस योजना के तहत 10 लाख मकान बनाएगी। उन्होंने कहा कि प्राकृतिक आपदा की चपेट में आने वाले, संक्रामक रोगों की गिरफ्त में आने वाले गांव के गरीबों को मुफ्त मकान देने के लिए मुख्यमंत्री ग्रामीण आवास योजना लाई गई है। गांवों में आवारा पशुओं से किसानों को होने वाले नुकासन पर उन्होंने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा कि उनकी सरकार को बदनाम करने के लिए पालतू जानवर सड़कों पर छोड़ दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार ने निराश्रित जानवरों के लिए हर जिले में आश्रय स्थल बनाने की योजना बनाई है और इसके लिए बजट में धनराशि आवंटित की और काम शुरु हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले की सरकारों ने चीनी मिलों को बेचने का काम किया जबकि उनकी सरकार न केवल पुरानी बंद चीनी मिलों को चालू कर रही है बल्कि कई नई मिलें लगा भी रही है। 
 
निवेशक सम्मेलन का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार ने औद्योगिक निवेश नीति बनाने के साथ अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग नीतियां बनाई और लोगों में विश्वास पैदा किया। प्रदेश सरकार की कोशिशों का नतीजा रहा है कि देश भर में सबसे सफल निवेशक सम्मेलन लखनऊ में हुआ जिसमें 4.68 लाख करोड़ रुपये का निवेश इस प्रदेश में आया।  
कीवर्ड budget, uttar pradesh, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक