बिहार में लक्ष्य से कम रहेगा राजस्व

बीएस संवाददाता | पटना Mar 29, 2018 09:57 PM IST

वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) की वजह से बिहार सरकार को कमाई को चोट लगी है। दरअसल, लगातार दूसरे वर्ष राज्य सरकार का कर संग्रहण उम्मीद से काफी कम रहा है। इस वजह से राज्य सरकार ने अगले वित्त वर्ष के वास्ते भी अपने लक्ष्य को कम कर दिया है। राज्य सरकार को चालू वित्त वर्ष में अपने स्रोतों से 32,000 करोड़ रुपये की कमाई की उम्मीद है। इसमें सबसे बड़ा हिस्सा वाणिज्य करों का है, जिसके तहत राज्य सरकार को करीब 24,000 करोड़ रुपये की कमाई की आस थी। हालांकि, अब तक राज्य सरकार 20 हजार करोड़ भी जुटा नहीं पाई है। पिछले शनिवार तक राज्य सरकार का वाणिज्य करों से कुल संग्रह करीब 18,000 करोड़ रुपये का था। 
 
राज्य सरकार को पूरी उम्मीद है कि वित्त वर्ष के खत्म होने-होने तक उसके खजाने में करीब 20,000 करोड़ रुपये आ जाएंगे। इसके बावजूद राज्य सरकार अपने लक्ष्य से करीब 4,000 करोड़ रुपये कम रहेगी। पिछले साल की तुलना में कर संग्रहण बढ़ा है, जो राहत की बात है। पिछले वित्त ïवर्ष भी राज्य सरकार को 22,000 करोड़ रुपये के कर संग्रहण की उम्मीद थी, लेकिन शराबबंदी की वजह से उसकी कमाई 18,000 करोड़ ही रही थी। अधिकारी कमाई में गिरावट का ठीकरा जीएसटी पर फोड़ रहे हैं। उनके मुताबिक नई प्रणाली और रिफंड मिलने में देरी वजह से कमाई में सुस्ती आई है। 
कीवर्ड GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक