यूपी में माल की आवाजाही में ई-वे बिल नहीं

बीएस संवाददाता | लखनऊ Apr 01, 2018 09:49 PM IST

व्यापारियों की व्यावहारिक दिक्कतों को देखते हुए उत्तर प्रदेश सरकार ने पूरे प्रदेश में कहीं भी माल लाने-ले जाने के लिए ई वे-बिल की अनिवार्यता खत्म कर दी है। अब प्रदेश के भीतर एक स्थान से दूसरे स्थान पर माल की आवाजाही के लिए ई-वे बिल की जरूरत नहीं होगी। दूसरी ओर अंतरराज्यीय मालवहन के लिए वे-बिल आज से देश भर में प्रभावी हो गया है। उत्तर प्रदेश में वाणिज्यकर आयुक्त कामिनी रतन चौहान ने इस बारे में अधिसूचना जारी की है। अधिसूचना के मुताबिक उत्तर प्रदेश को ऐसा क्षेत्र घोषित किया गया है जहां एक स्थान से दूसरे स्थान को सभी मालों के संचान के लिए अग्रिम आदेशों तक ई-वे-बिल सृजित करने की जरूरत नहीं होगी। 
 
वाणिज्य कर आयुक्त ने यह फैसला केंद्रीय कर के मुख्य आयुक्त से परामर्श के बाद लिया है। रविवार से अंतरराज्यीय ई-वे-बिल प्रभावी हो गया है। अभी तक इसके न होने की दशा में प्रदेश के व्यापारियों को राज्य ई-वे-बिल की जरूरत होती थी। व्यापारी लंबे समय से इसे हटाने की मांग कर रहे थे। अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल के अध्यक्ष संदीप बंसल के मुतिबक सरकार का यह फैसला कम से कम व्यापारियों के लिए राहत की बात है। उनका कहना है कि इससे राज्य के व्यापारियों का उत्पीडऩ रुकेगा। इससे पहले फरवरी में ई-वे-बिल प्रणाली विफल होने पर राज्य ने राज्यकीय ई-वे-बिल की बाध्यता लागू कर थी जिससे व्यापारियों को दिक्कत हो रही थी।
कीवर्ड e way bill, GST, वस्तु एवं सेवा कर, जीएसटी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक