शराबबंदी से समाज का हुआ भला: नीतीश

बीएस संवाददाता | पटना Apr 05, 2018 10:37 PM IST

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि राज्य में शराबबंदी से लोगों का भला हुआ है। हालांकि उन्होंने आरोप लगाया कि विपक्षी दल इस मुद्दे पर राजनीति कर रहे हैं। राज्य में शराब पर पाबंदी को दो साल पूरे हो चुके हैं और इस दौरान इस कानून के तहत 1.28 लाख लोग जेल भेजे जा चुके हैं। 

राज्य सरकार ने 5 अप्रैल 2016 को बिहार में पूर्ण शराबबंदी का ऐलान किया था। शराबबंदी के दूसरी वर्षगांठ के मौके पर आयोजित एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री ने कहा कि जब उन्होंने राज्य के ग्रामीण इलाकों में शराबबंदी का ऐलान किया था, तो लोगों ने खुले दिल से इसका स्वागत किया था और इसे पूरी तरह से लागू करने की मांग की थी। 


उन्होंने कहा, 'इसी वजह से हमने पूरे राज्य में शराबबंदी का ऐलान किया था। अब इस कदम का समाज में काफी लाभ हुआ है। हमने शराबबंदी के खिलाफ  एक कड़ा कानून बनाया है, लेकिन इसके खिलाफ  हमें सामाजिक अभियान भी जारी रखना होगा।' उन्होंने कहा कि अब हम लोगों को और भी सर्तक रहने की जरूरत है। नीतीश ने दावा किया कि शराबबंदी के खिलाफ  पूरा जनमत एक है। उन्होंने कहा कि शराबबंदी से लाखों लोगों की जिंदगी सुधरी है, लेकिन यह बात विपक्ष को नहीं सूझ रही है। 

नीतीश ने राज्य में शराबबंदी कानून के तहत पुलिस और उत्पाद विभाग की कार्रवाई का ब्योरा भी दिया। राज्य सरकार के आंकड़ों के मुताबिक बिहार में पिछले दो साल में इस कानून के तहत 6.82 लाख छापेमारी हुई है, जबकि छापेमारी में राज्य में 28 लाख लीटर से ज्यादा शराब बरामद हुई है। मुख्यमंत्री ने बताया कि इस कानून के तहत 1 अप्रैल, 2016 से लेकर इस साल 31 मार्च तक 1.05 लाख मामले दर्ज किए गए हैं, जिनमें 1.27 लाख से ज्यादा गिरफ्तारियां हुई हैं। 

गिरफ्तारी के बड़े आंकड़े पर मुख्यमंत्री ने कहा कि कुछ लोग इस कानून के तहत 1 लाख से ज्यादा लोगों की गिरफ्तारी का हौवा बना रहे हैं, जबकि सच्चाई यह है कि इस कानून के तहत अब तक महज 8,123 लोग ही जेल में हैं। उन्होंने कहा कि इनमें 801 अभियुक्त बिहार के बाहर के हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस कानून से अनुसूचित जाति एवं जनजाति, अति पिछड़ी और महादलित जाति के लोगों को सबसे अधिक फायदा हुआ है। गिरफ्तारी के बड़े आंकड़े को लेकर राज्य सरकार पिछले कई दिनों से विपक्षी दलों के निशाने पर थी। राजद औऱ उसके सहयोगी दल  लोगों को तंग करने का आरोप लगा रहे थे।
कीवर्ड बिहार, मुख्यमंत्री, नीतीश कुमार, राज्य, शराबबंदी,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक