तूफान प्रभावित मक्का किसानों को मिलेगा मुआवजा

बीएस संवाददाता | पटना Apr 09, 2018 09:58 PM IST

बिहार में कालबैसाखी के मार झेल रहे मक्का किसानों के लिए राज्य सरकार ने मुआवजे का ऐलान किया है। बीते दिनों बेमौसम की बरसात, ओलावृष्टि और आंधी से राज्य में भारी बर्बादी हुई थी। इस वजह से रविवार को भोजपुर जिले में एक किसान ने आत्महत्या भी कर ली थी।  राज्य के कृषि मंत्री प्रेम कुमार ने सोमवार को कटिहार में किसानों के लिए मुआवजे का ऐलान किया। उन्होंने कहा, 'बीते दिनों ओलावृष्टि, बारिश और आंधी से राज्य के मक्का किसानों का भारी नुकसान हुआ था। हम इस नुकसान का हिसाब लगा रहे हैं। इस आधार पर हम किसानों को नुकसान के आधार पर मुआवजा भी देंगे। यह मुआवजा राज्य के 12 जिलों के मक्का किसानों को मिलेगा।' बीते 10 दिनों में राज्य में आंधी, बारिश और ओलों की वजह से राज्य के मक्का किसानों को भारी नुकसान हुआ है। इसमें भी सबसे ज्यादा नुकसान कटिहार, पूर्णिया, खड़गिया और सीमांचल के जिलों में हुआ, जो बिहार में मक्का उत्पादन का सबसे बड़ा केंद्र है। इसके अलावा, राज्य के फल उत्पादकों को भी काल बैसाखी की मार झेलनी पड़ी है। खास तौर पर आम और लीची की फसल पर काल बैसाखी की मार पड़ी है। 

 
राज्य में 30 मार्च और 7 अप्रैल को अधिकतर जिलों में आंधी, बारिश और ओलावृष्टि हुई थी। इसमें एक दर्जन से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी। साथ ही, सैकड़ो घर तबाह हो गए थे, जबकि फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ था। राज्य सरकार ने मंगलवार तक सभी जिला प्रशासनों से नुकसान के बारे में पूरी रिपोर्ट मांगी है। इस बीच रविवार को भोजपुर जिले के बिन्द टोली गांव में किसान दशरथ बिन्द ने आत्महत्या कर ली। 
कीवर्ड bihar, farmer,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक