सिंगरौली प्रदूषण : एनजीटी ने जारी किया नोटिस

भाषा | नई दिल्ली Apr 09, 2018 09:59 PM IST

राष्ट्रीय हरित न्यायाधिकरण (एनजीटी) ने अपने आदेश के बावजूद मध्य प्रदेश के सिंगरौली और उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में औद्योगिक एवं खनन गतिविधियों से हो रहे प्रदूषण पर अंकुश लगाने में अधिकारियों की निष्क्रियता संबंधी एक अर्जी पर आज केंद्र एवं अन्य से जवाब तलब किया। एनजीटी के कार्यवाहक न्यायमूर्ति जे रहीम ने पर्यावरण एवं वन मंत्रालय, उत्तर प्रदेश सरकार, मध्य प्रदेश सरकार तथा दोनों राज्यों के  पर्यावरण सचिवों की निगरानी समिति एवं अन्य को नोटिस जारी किया है। न्यायाधिकरण ने संबंधित अधिकारियों को उसके आदेश को लागू नहीं किए जाने का कारण बताते हुए निजी हलफनामे दाखिल करने का निर्देश दिया है और मामले की सुनवाई की अगली तारीख 11 मई तय की है। 
 
वकील अश्विनी दुबे ने अपनी याचिका में कहा है कि न्यायाधिकरण के 6 दिसंबर, 2017 के आदेश के बावजूद उद्योगों और अधिकारियों ने इस क्षेत्र के पर्यावरण में सुधार के लिए कोई कदम नहीं उठाया है और लोगों को उनके हाल पर छोड़ दिया गया। न्यायाधिकरण ने उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश सरकारों को सिंगरौली और सोनभद्र जिलो में ऑनलाइन वायु गुणवत्ता निगरानी तंत्र तथा रिवर्स ऑस्मोसिस वाटर प्यूरीफिकेशन प्लांट्स लगाने का निर्देश दिया था।
 
नक्सली हमले में दो जवान शहीद, 5 घायल
 
छत्तीसगढ़  के नक्सल प्रभावित बीजापुर जिले में नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फोट कर पुलिस बस को क्षतिग्रस्त कर दिया है। इस घटना में दो पुलिस जवान शहीद हो गए हैं तथा पांच अन्य घायल हुए हैं। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि बीजापुर जिले के कुटरू थाना क्षेत्र के अंतर्गत गोदमा गांव के करीब नक्सलियों ने बारूदी सुरंग में विस्फ ोट कर पुलिस बस को क्षतिग्रस्त कर दिया।
कीवर्ड NGT, pollution, madhya pradesh,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक