दिल्ली में कंस्ट्रक्शन परमिट लेना हुआ सुगम

रामवीर सिंह गुर्जर | नई दिल्ली Apr 12, 2018 09:35 PM IST

आवेदन के 15 दिन के अंदर मिलेगी अनुमति

परमिट आवेदन निगम के कॉमन आवेदन फॉर्म के पोर्टल से जुड़ा
डीपीसीसी ने भी इस पोर्टल से अपने सॉफ्टवेयर को जोड़ा

दिल्ली सरकार ने कंस्ट्रक्शन परमिट लेने की प्रक्रिया को सुगम कर दिया है। परमिट के आवेदन को बिल्डिंग प्लान स्वीकृति के लिए नगर निगम के कॉमन आवेदन फॉर्म (सीएएफ) के पोर्टल से जोड़ दिया गया है। नए कंस्ट्रक्शन के लिए अनुमति लेने के लिए अब आवेदन ऑनलाइन बिल्डिंग प्लान मंजूरी प्रणाली के माध्यम से ही करना होगा। इस परमिट को जारी करने वाली दिल्ली प्रदूषण नियंत्रण समिति (डीपीसीसी) ने भी अपने सॉफ्टवेयर को सीएएफ से जोड़ लिया है।

डीपीसीसी के एक अधिकारी ने बताया कि उद्योग स्थापित करने के लिए जल अधिनियम 1974/वायु अधिनियम, 1981 के तहत कंस्ट्रक्शन परमिट लेना होता है। कारोबारी सुगमता को बढ़ावा देने के लिए इस परमिट को लेना आसान किया जा रहा है। इसके लिए इस परमिट को दक्षिण दिल्ली नगर निगम के ऑनलाइन बिल्डिंग प्लान मंजूरी के लिए सीएएफ के पोर्टल से जोड़ा गया है। 

दक्षिण दिल्ली नगर निगम सभी निगमों के ऑनलाइल बिल्डिंग प्लान को मंजूरी देने के लिए नोडल एजेंसी है। निगम के पोर्टल से कंस्ट्रक्शन परमिट का आवेदन डीपीसीसी को ऑनलाइन माध्यम से भेजा जाएगा। डीपीसीसी से 15 दिन के भीतर एकल खिड़की प्रणाली के तहत इस आवेदन पर निर्णय न होने या अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) नहीं मिलने पर बिल्डिंग प्लान को स्वत: मंजूरी मान ली जाएगी और मंजूरी देने वाला प्राधिकार कंस्ट्रक्शन परमिट के आवेदन को कार्यवाही के लिए आगे बढ़ाएगा। अधिकारी ने कहा कि डीपीसीसी से प्रस्तावित नई इमारत के निर्माण के लिए अनुमति मांगने वाले सभी आवेदकों को अब ऑनलाइन बिल्डिंग प्लान मंजूरी प्रणाली के माध्यम से ही आवेदन करना होगा।

दिल्ली की कारोबारी सुगमता की रैंकिंग में सुधारने के लिए बीते वर्षों में बिल्डिंग प्लान को मंजूरी देने के लिए एकल खिड़की मंजूरी प्रणाली शुरू की गई थी और इसके लिए कॉमन आवेदन फॉर्म की व्यवस्था की गई थी। बिल्डिंग प्लान को मंजूरी के लिए आवेदन के बाद 30 दिन की समय सीमा निर्धारित की गई थी।
कीवर्ड delhi, construction, permit,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक