महाराष्ट्र हुआ खुले में शौच से मुक्त राज्य

बीएस संवाददाता | मुंबई Apr 18, 2018 09:38 PM IST

महाराष्ट्र सरकार ने राज्य को खुले में शौच से पूरी तरह मुक्त करार दिया है। केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत अभियान के तहत महाराष्ट्र सरकार ने राज्य को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए पुरजोर अभियान चलाया और करीब 60 लाख से अधिक शौचालयों का निर्माण करवाया। राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने राज्य को खुले में शौच से पूरी तरह मुक्त करार दिया।  मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2019 तक देश को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने का संकल्प लिया था, लेकिन महाराष्ट्र ने 2018 में यह काम कर दिखाया। राज्य में कुल मिलाकर 60,41,138 शौचालयों का निर्माण हुआ, जिन पर करीब 4,000 करोड़ रुपये से अधिक की रकम खर्च हुई। यह रकम केंद्र और राज्य सरकार ने सामूहिक तौर पर मुहैया कराई है। 
 
उन्होंने कहा कि शौचालयों के निर्माण के बाद राज्य सरकार लोगों को इनके इस्तेमाल के लिए प्रेरित कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि अब शौचालय उपलब्ध होने से महिलाओं को समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने पिछले चार वर्षों के दौरान शौचालयों के निर्माण का ब्योरा दिया। उन्होंने कहा कि वर्ष 2013-14 में 2,21,849, वर्ष 2015-15 में 4,88,402, वर्ष 2015-16 में 8,82,053, वर्ष 2016-17 में 19,16,461 और 2017-18 में 22,51,081 शौचालयों का निर्माण हुआ। उन्होंने कहा कि 2,81,292 सार्वजनिक शौचालयों का निर्माण हुआ। इस तरह राज्य में कुल 60,41,138 शौचालयों का निर्माण हुआ।  मुख्यमंत्री ने कहा, 'राज्य में वर्ष 2012 के सर्वेक्षण के अनुसार केवल 45 प्रतिशत परिवारों के पास ही शौचालय थे। स्वच्छ महाराष्ट्र अभियान के अंतर्गत 55 प्रतिशत परिवारों के लिए शौचालय निर्माण करना बड़ी चुनौती थी, लेकिन हमने यह कर दिखाया।'
कीवर्ड mumbai, ODF,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक