नकदी संकट से निपटने के लिए यूपी सरकार की कवायद

बीएस संवाददाता | लखनऊ Apr 18, 2018 09:38 PM IST

पूरे देश में नकदी संकट की खबरों के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने इससे निपटने की कवायद शुरू कर दी है। राज्य में नकदी संकट पर राज्य के मुख्य सचिव राजीव कुमार ने भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) और अन्य बैंकिंग संस्थानों के अधिकारियों से बैठक की। कुमार ने बैंक अधिकारियों को तत्काल उपाय करने को कहा।  हालांकि उत्तर प्रदेश सरकार का कहना है कि राज्य में बड़े पैमाने पर नकदी का संकट नहीं है, लेकिन दूर-दराज के क्षेत्रों, कस्बों के साथ बड़े शहरों में एटीएम खाली पड़े हैं। बैंक अपनी शाखाओं में ग्राहकों को सीमित मात्रा में नकदी की निकासी की अनुमति दे रहे हैं। शादी-विवाह का मौसम होने के कारण लोग नकदी के लिए बड़े शहरों की ओर रुख कर रहे हैं। मिसाल के तौर पर सोनभद्र शक्तिनगर के शहरयार खान ने बताया कि नकदी निकासी के लिए उन्हें वाराणसी तक का सफर करना पड़ा। गोंडा के तरबगंज में बैंक शाखाओं में नकदी नहीं होने से मारपीट होने तक की खबर आई है।
 
बुधवार को अक्षय तृतीया के दिन धमाकेदार बिक्री की उम्मीद लगाए सराफा कारोबारियों के लिए नकदी की कमी ने रंग में भंग डाल दिया। छोटे से बड़े आभूषण कारोबारियों ने अपनी दुकानों के सामने डिजिटल व कार्ड के जरिये भुगतान लेने संबंधी सूचना पट टांग दिए।  लखनऊ के आभूषण कारोबारी अजय त्रिवेदी ने कहा कि अक्षय तृतीय के मौके पर नकदी संकट ने सारी उम्मीदों पर पानी फेर दिया। त्रिवेदी ने कहा कि वैसे ज्यादातर कारोबारी डिजिटल माध्यम व कार्ड से भुगतान ले रहे हैं, लेकिन लोग अब भी खरीदारी के लिए नकदी पर निर्भरता दिखा रहे हैं। उत्तर प्रदेश वित्त विभाग के अधिकारियों का कहना है कि नकदी संकट से तमाम कयासों को भी बल मिला है।
कीवर्ड bank, loan, debt, cash, uttar pradesh,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक