महाराष्ट्र में 1 मई से ई-वे बिल

सुशील मिश्र | मुंबई Apr 20, 2018 10:19 PM IST

महाराष्ट्र में आगामी 1 मई से ई-वे बिल प्रक्रिया लागू होगी। इस व्यवस्था के तहत राज्य में 50,000 रुपये से अधिक मूल्य की वस्तुओं के परिवहन के लिए ई-वे बिल प्रक्रिया प्रभावी होगी। देश के कई राज्यों में यह व्यवस्था पहले ही अमल में आ चुकी है। वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) विभाग ई-वे बिल निगरानी के लिए एक दस्ते का भी गठन करेगा। महाराष्ट्र में ई-वे बिल व्यवस्था के लिए कवायद तेज हो गई है। जीएसटी परिषद ने 30 जून से पहले राज्य में ई-वे बिल प्रक्रिया लागू करने के लिए कहा है। व्यवस्था सुचारु ढंग से लागू करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक प्रशिक्षण दिए जा रहे हैं। वस्तु एवं सेवा कर

अधिकारियों की मानी जाए तो वह महाराष्ट्र दिवस (एक मई) से राज्य में ई-वे बिल प्रक्रिया लागू करने की पूरी कोशिश कर रहे हैं। अधिकारियों का कहना है कि कोई भी नया नियम आने पर पहले कर्मचारियों को इससे रूबरू कराना पड़ता है।


महाराष्ट्र में ई-वे बिल लागू किये जाने की चर्चा पर ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस (एआईएमटीसी) के चेयरमैन बल मलकीत सिंह ने कहा कि देश के कई हिस्सों में ई-वे बिल व्यवस्था लागू की जा चुकी है और इसमें कोई परेशानी नहीं हो रही है। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में भी यह व्यवस्था आराम से लागू की जा सकती है। 

उन्होंने कहा, 'हम ई-वे बिल व्यवस्था लागू करने की पहल का स्वागत करते हैं। राज्य सरकार अगर पूरी मुस्तैदी से इसे लागू करेगी तो कोई परेशानी नहीं होगी। ट्रांसपोर्टरों को इस प्रणाली से कोई परहेज नहीं है बशर्ते राज्य सरकार अपनी तैयारियां दुरुस्त रखें।' कपड़ा कारोबारियों की प्रमुख संस्था भारत मर्चेंट चैंबर के ट्रस्टी राजीव सिंघल ने कहा कि कोई भी नई व्यवस्था कारोबार आसान करने के लिए तैयार की जाती है। उन्होंने कहा कि इसकी सफलता या असफलता पूरी तरह प्रशासनिक तैयारियों पर निर्भर करती है। अब तक तक देश के 11 राज्य ई-वे बिल व्यवस्था लागू कर चुके हैं। 
कीवर्ड महाराष्ट्र, मई, ई-वे बिल, भारत मर्चेंट चैंबर,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक