मुंबई विकास योजना में सस्ते आवास पर जोर

बीएस संवाददाता | मुंबई Apr 25, 2018 09:42 PM IST

मुंबई के लिए तैयार नई विकास योजना जायदाद के निर्माण में तेजी ला सकती है। निर्माण गतिविधियां तेज होने से मकानों की कीमतें भी सस्ती रहने की उम्मीद है। विशेषज्ञों का कहना है कि 'विकास योजना 2034' में सस्ते आवास और व्यावसायिक जायदाद पर जोर दिया गया है।  मकान और व्यावसायिक परिसर बनाने के लिए बृह्न्मुंबई महानगर पालिका (बीएमसी) मुंबई और इसके उपनगरों में 3,355 हेक्टेयर (8,290 एकड़) जमीन उपलब्ध कराएगी। पहले बीएमसी ने मुंबई और उपनगरों को निर्माण वर्जित क्षेत्र घोषित किया था। 
 
मुंबई के निगम आयुक्त अजय मेहता ने आज एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि नई विकास योजना के तहत सस्ते मकानों के निर्माण के लिए 2,100 हेक्टेयर जमीन सुरक्षित कर ली गई  है। मुंबई विकास योजना में व्यावसायिक एवं आवासीय इमारतों दोनों के लिए फ्लोर स्पेस इंडेक्स (जमीन के किसी हिस्से पर अधिकतम निर्माण की अनुमति) में इजाफा किया गया है। इस तरह, आवासीय एवं व्यावसायिक जायदाद के लिए एफएसआई क्रमश: 1.33 से बढ़ाकर 3 और 5 कर दिया गया है। उपनगरों में आवासीय जायदाद के लिए एफएसआई 2 से बढ़ाकर 2.5 और व्यावसायिक जायदाद के लिए 2.5 से बढ़ाकर 5 किया गया है। विकास योजना पर एएसके प्रॉपर्टी इन्वेस्टमेंट एडवाइजर्स के प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्याधिकारी अमित भगत ने कहा, 'घर खरीदारों के लिए यह अच्छी एक पहल है, क्योंकि एफएसआई बढ़ाने से आपूर्ति सुनिश्चित होगी और इससे सस्ते मकान भी उपलब्ध होंगे। योजना में सस्ते मकान पर जोर दिया गया है और इनके लिए पर्याप्त जमीन का बंदोबस्त भी किया गया है।'
 
हीरानंदानी कंस्ट्रक्शन के प्रबंध निदेशक निरंजन हीरानंदानी ने कहा कि कई सालों से मुंबई की विकास योजनाएं का जोर आवासीय रियल एस्टेट खंड पर रहा था। उन्होंने कहा, 'इस बार व्यावसायिक जायदाद पर भी ध्यान दिया गया है। इसके अलावा केंद्रीय कारोबारी क्षेत्र में भीड़ कम करने की कोशिश की गई है।' हीरानंदानी ने कहा कि नई योजना में कम से कम समय में सस्ते मकानों की उपलब्धता सुनिश्चित करने का प्रयास किया गया है। जायदाद सलाहकार कंपनी जेएलएल के सीईओ और भारत प्रमुख रमेश नायर ने कहा था कि उपनगरों के मुकाबले मुंबई शहर में एफएसआई कम है। नायर ने कहा, 'मुंबई शहर में एफएसआई उपनगरों के एफएसआई की तुलना में बढ़ा दिया गया है। इससे मकानों की संभावित आपूर्ति बढ़ेगी।'
कीवर्ड mumbai, house,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक