कोयला उत्पादन में फिर अव्वल रही एसईसीएल

आर कृष्णा दास | रायपुर Apr 26, 2018 09:47 PM IST

कोल इंडिया लिमिटेड की पूर्ण स्वामित्व वाली इकाई साउथ ईस्टर्न कोलफील्डï्स लिमिटेड (एसईसीएल) ने 2017-18 में 14.471 करोड़ टन कोयला उत्पादन कर देश में सबसे बड़ा कोयला उत्पादक होने का अपना दर्जा बरकरार रखा है। छत्तीसगढ़ के बिलासपुर जिले में मुख्यालय वाली इस कंपनी का गठन 1985 में किया गया था। वर्ष 2015-16 में महानदी कोलफील्ड्स लिमिटेड (एमसीएल) ने कोयला उत्पादन में एसईसीएल को पीछे छोड़ दिया था, लेकिन 2016-18 में एसईसीएल ने उत्पादन के मामले में एमसीएल को पीछे छोड़ दिया और 2017-18 में भी सबसे बड़ा कोयला उत्पादक का दर्जा बरकरार रखा। 

 
एमसीएल ने 2017-18 के दौरान 14.306 करोड़ टन कोयले का उत्पादन किया जब इस दौरान कोल इंडिया लिमिटेड में कुल 56.737 करोड़ टन कोयले का उत्पादन किया गया और पिछले साल की तुलना में इसने 2.4 प्रतिशत ज्यादा कोयले का उत्पादन किया।  पिछले साल के मुकाबले 3.4 फीसदी वृद्घि दर्ज करते हुए एसईसीएल ने 15.111 करोड़ टन कोयले का उत्पादन किया। एसईसीएल के चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक बी आर रेड्डïी ने कहा, 'कंपनी ने असाधारण परिचालन उत्कृष्टïता का प्रदर्शन किया है।'
 
वित्तीय प्रदर्शन के लिहाज से एसईसीएल की कुल ब्रिकी 2017-18 में पिछले साल के 29215.53 करोड़ रुपये का आंकड़ा पार कर गई।  रेड्डïी ने कहा कि नए वित्त वर्ष में कंपनी को कठिन चुनौतियों का सामना करते हुए अपनी प्रतिबद्घता पूरी करनी होगा। एसईसीएल ने 16.7 करोड़ टल कोयले का उत्पादन का महत्त्वाकांक्षी लक्ष्य रखा है। रेड्डïी ने कहा, 'इस लक्ष्य को हासिल करने के लिए कंपनी को नई परियोजनाओं से 60 लाख टन अतिरिक्त उत्पादन करना होगा।'
कीवर्ड coal india, coal, power,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक