अनुसूचित जाति, जनजाति के छात्रों को नीतीश की नेमतें

बीएस संवाददाता | पटना May 08, 2018 09:35 PM IST

आम चुनाव के पहले बिहार सरकार ने कमजोर वर्ग के छात्रों के लिए नेमतों की बारिश की है। राज्य सरकार ने केंद्रीय लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) और बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की प्रतियोगी परीक्षाएं पास करने वाले अनुसूचित जाति और जनजाति के छात्रों को 1 लाख और 50 हजार रुपये देने की घोषणा की है।  वहीं, राज्य सरकार ने अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ी जाति, अति पिछड़ी जाति और अल्पसंख्यक छात्रावासों में रहने वाले प्रत्येक छात्र-छात्रा को मुफ्त में 15 किलो अनाज देने का ऐलान भी किया है। इसके अलावा, इन छात्रावासों में रहने वाले अनुसूचित जाति-जनजाति के बच्चों को प्रत्येक महीने छात्रवृत्ति के रूप में 1,000 रुपये देने का भी फैसला लिया है। राज्य मंत्रिमंडल ने मंगलवार को इन प्रस्तावों पर अपनी मुहर लगा दी।
 
मंत्रिमंडल की बैठक के बाद राज्य के मुख्य सचिव अंजनी कुमार सिंह ने बताया, 'राज्य सरकार ने कमजोर वर्गों के छात्र-छात्राओं के पक्ष में कई फैसले लिए हैं। इसके तहत राज्य सरकार बिहार महादलित विकास मिशन की योजनाओं का लाभ अब अनुसूचित जाति-जनजाति के तहत आने वाले सभी लोगों को देगी। इसके अलावा, मंत्रिमंडल ने अनुसूचित जाति, जनजाति, पिछड़ी जाति, अति पिछड़ी जाति और अल्पसंख्यक छात्रावासों में रहने वाले प्रत्येक छात्र-छात्रा को मुफ्त में 15 किलोग्राम अनाज देने के प्रस्ताव पर भी अपनी मुहर लगा दी। अनुसूचित जाति-जनजाति छात्रावासों में रहने वाले सभी बच्चों को प्रत्येक महीने छात्रवृत्ति के रूप में 1,000 रुपये भी दिए जाएंगे।'
कीवर्ड bihar, election, students,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक