ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर बिकेंगे प्रदेश के हस्तशिल्प

बीएस संवाददाता | लखनऊ May 09, 2018 10:02 PM IST

उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों के विशिष्ट उत्पाद खासकर हस्तशिल्प अब अमेजन के जरिये बिकेंगे। प्रदेश सरकार की वन डिस्ट्रिक वन प्रोडक्ट (ओडीओपी) योजना के तहत गलोबल ई-बिजनेस कंपनी अमेजन ने प्रदेश में बनने वाले उत्पादों की बिक्री करने में रुचि दिखायी है। इसके अलावा आईटी क्षेत्र की बड़ी कंपनियों इंटेल, ओरेकल और सिस्को ने प्रदेश के नोयडा, ग्रेटर नोयडा इलाके में डेटा कलेक्शन एवं प्रोसेसिंग सेंटर खोलने में रुचि दिखायी है।  उत्तर प्रदेश सरकार के स्वास्थ्य मंत्री सिद्घार्थनाथ सिंह और औद्योगिक विकास आयुक्त (आईआईडीसी) अनूपचंद्र पांडे के नेतृत्व में प्रदेश में निवेश की संभावनाएं तलाशने अमेरिका गए पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने कहा कि कई बड़ी कंपनियों ने उत्तर प्रदेश में अपनी ईकाई लगाने की इच्छा जतायी है। अमेरिका यात्रा सेलौटने के बाद जानकारी देते हुए सिद्धार्थनाथ सिंह ने बताया कि प्रदेश के खादी उत्पादों के विपणन के लिए अमेजन के साथ पहले ही करार हो चुका है। अब अमेजन ने ओडीओपी के तहत प्रदेश के विभिन्न जिलों के विशिष्ट उत्पादों को अपने प्लेटफार्म के जरिये बेचने की इच्छा जतायी है। उनका कहना है कि अमेजन के प्लेटफार्म पर प्रदेश के विशिष्ट उत्पाद खासकर हस्तशिल्प के आ जाने से कम से कम पांच करोड़ हस्तशिल्पियों को फायदा पहुंचेगा।
 
स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि पांच दिवसीय अमेरिका यात्रा के दौरान उनके प्रतिनिधि मंडल ने स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय के प्रतिनिधियों से मुलाकात की और उत्तर प्रदेश की स्वास्थ सेवाओं में बेहतरी के लिए बातचीत की। उन्होंने बताया कि जल्दी ही प्रदेश में जानलेवा बीमारी जापानी इन्सेफलाइटिस (जेई) और एई की रोकथाम के लिए विशेष सुविधा युक्त प्रतिरोधक केंद्र बनाने के लिए स्टैनफोर्ड विश्वविद्यालय से करार होगा। अमेरिकी विश्वविद्यालय प्रदेश में यातायात को नियंत्रित करने के उपायों को भी लागू करने का काम करेगा। 
 
उत्तर प्रदेश के प्रतिनिधिमंडल के अमेरिका यात्रा के बाद मंत्री सिद्धार्थनाथ सिंह और आईआईडीसी अनूपचंद्र पांडे ने बताया कि हाल ही में हुए सफल निवेशक सम्मेलन के बाद योगी सरकार जल्दी ही वैश्विक निवेशक सम्मेलन आयोजित करेगी।  मंत्री सिंह ने बताया कि पहला वैश्विक सम्मेलन अमेरिकी कंपनियों के साथ अगले वर्ष की शुरुआत में होगा। इसके अलावा प्रदेश सरकार फ्रांस, जर्मनी और यूरोप के कई देशों में इस तरह के सम्मेलन का आयोजन करेगी।  उन्होंने बताया कि अमेरिका यात्रा के दौरान स्वास्थ्य क्षेत्र की कंपनियों हनीवेल और वॉटर हेल्थ ने प्रदेश में शुद्घ पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए सेवाएं देने में रुचि दिखायी जबकि वेरियन मेडिकल सिस्टम ने पीपीपी मॉडल पर प्रदेश में रेडियेशन ऑन्कोलॉजी विकसित करने में रुचि दिखायी है। इममर्सिव टच ने ऐसी तकनीकी उपलब्ध कराने की इच्छा जताई जिससे कम कीमत पर एमआरआई को रिप्लेस किया जा सकेगा।
कीवर्ड uttar pradesh, handloom, online,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक