तरन तारन के विकास पर खर्च होंगे 555 करोड़ रुपये

बीएस संवाददाता | तरन तारन May 17, 2018 09:40 PM IST

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने गुरुवार को सीमावर्ती जिले तरन तारन के विकास के लिए 555 करोड़ रुपये मूल्य की परियोजनाओं की घोषणा की। इनमें ज्यादातर परियोजनाएं का जोर सड़कों के विकास और संपर्क बढ़ाने पर होगा।  सामरिक रूप से अहम यह जिला  भारत-पाकिस्तान सीमा के निकट स्थित है। मुख्यमंत्री ने पंजाब को नशीला पदार्थ मुक्त करने और राज्य का हर इलाका नशा मुक्त मोहल्ला बनाने के अपनी सरकार के प्रयासों के तहत मादक पदार्थ दुरुपयोग रोकथाम अधिकारी (डीएपीओ ) पहल के दूसरे चरण की शुरुआत के दौरान ये घोषणाएं कीं। 
 
सिंह ने खेम करन से चाबल मार्ग के लिए 150 करोड़ रुपये मूल्य की परियोजनाओं की घोषणा की। 125 करोड़ रु पये हरिके- खालरा मार्ग के चौड़ीकरण एवं उन्नयन के लिए और 770 किलोमीटर लंबे 312 संपर्क मार्गों की विशेष मरम्मत के लिए 73 करोड़ रुपये आवंटित किए गए हैं।  मुख्यमंत्री ने जिले में स्वास्थ्य सुविधाओं के सुदृढ़ीकरण के लिए 40 करोड़ रुपये आवंटित करने की घोषणा की और खडूर साहिब विधानसभा क्षेत्र में सरकारी डिग्री कॉलेज की स्थापना पर 12 करोड़ रुपये खर्च करने की बात कही। विभिन्न मंडियों में विकास कार्यों पर 44 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। इस सीमावर्ती जिले में स्वास्थ्य सुविधाएं मजबूत करने पर 40 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, साथ ही खदूर साहिब में एक सरकारी डिग्री कॉलेज की स्थापना पर 12 करोड़ रुपये निवेश व्यय होंगे। 
 
मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के माध्यम से जिले में 3 करोड़ रुपये लागत से 9 स्मार्ट स्कूलों की स्थापना की भी घोषणा की। उन्होंने सौर प्रणाली और सौर ऊर्जा से जलने वाले बल्बों के लिए 30 प्रतिशत की सब्सिडी उपलब्ध कराने के अपनी सरकार के फैसले की घोषणा की। 
कीवर्ड panjab, मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक