उद्योगों के काम आएगी चीनी मिलों की जमीन

बीएस संवाददाता | पटना May 18, 2018 09:41 PM IST

बिहार सरकार ने अपनी बंद चीनी मिलें बिहार औद्योगिक भूमि विकास प्राधिकार (बियाडा) को सौंपने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। बियाडा इन मिलों की जमीन टुकड़ो में प्रस्तावित निवेशकों को देगी। इस प्रक्रिया को राज्य सरकार को करीब 2,300 एकड़ जमीन मिलने की उम्मीद है। उद्योग विभाग ने इस बारे में जमीन मापने की प्रक्रिया शुरू कर दी है।  विभाग के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ के मुताबिक 8 चीनी मिलों की जमीन का सर्वेक्षण शुरू हो गया है। इसके अलावा, राज्य सरकार ने अब अपनी तीन चीनी मिलें भी वापस लेने का फैसला लिया है। इन मिलों को भी राज्य सरकार बियाडा के जरिये निवेशकों को बेचेगी। हालांकि, इस बारे में कागजी प्रक्रिया शुरू होने में वक्त लगेगा। इन 8 मिलों के जरिये राज्य सरकार को 2,265 एकड़ जमीन मिलने की उम्मीद है। राज्य सरकार ने इस साल की शुरुआत में बनमनखी, लोहट, हथुआ, वारसिलीगंज, गोरौल, गुरारू, सीवान और न्यू सावन चीनी मिलों की जमीन और भवन बियाडा को सौंपने का फैसला लिया था। 
 
विभागीय अधिकारियों के मुताबिक चीनी उद्योग के लिहाज से इन मिलों ने पास काफी कम जमीन है, लेकिन दूसरे उद्योगों के लिहाज से इनके पास काफी जमीन है। साथ ही, ये मिल भी अच्छे इलाकों में स्थित हैं, इसीलिए राज्य सरकार ने इन्हें औद्योगिक पार्क के रूप में विकसित करने का फैसला लिया है।  इससे राज्य में औद्योगिक जमीन की दिक्कत दूर करने में काफी मदद मिलेगी। राज्य में निवेश के ज्यादातर प्रस्ताव भूमि की किल्लत की वजह से वास्तविकता में तब्दील नहीं हो पाते हैं। 
 
कीवर्ड bihar, industry, sugar, mills,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक