दिल्ली: निजी अस्पतालों के मनमाने शुल्क पर लगाम!

बीएस संवाददाता | नई दिल्ली May 28, 2018 10:11 PM IST

दिल्ली सरकार निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में दवाओं की मनमानी कीमत वसूली पर लगाम कसने के लिए दिल्ली नर्सिंग होम कानून के नियमों में बदलाव करेगी। इससे अस्पताल मरीज से दवाओं की खरीद कीमत पर 50 फीसदी से ज्यादा कीमत नहीं वसूल पाएंगे। 

सरकार मरीजों से तय पैकेज से ज्यादा शुल्क लेने पर भी अंकुश लगाएगी। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने बताया कि निजी अस्पतालों और नर्सिंग होम में दवाओं की मनमानी कीमत वसूलने पर लगाम लगाने के लिए गठित समिति ने संबंधित कानून के प्रावधानों में बदलाव के लिए मसौदा रिपोर्ट तैयार कर ली है। इस पर 30 दिन के भीतर सुझाव और आपत्तियां मांगी गई हैं। समिति ने सिफारिश की है कि निजी अस्पतालों को आवश्यक दवाओं की राष्टï्रीय सूची (एनएलईएम) में शामिल दवाओं को तय कीमत पर बेचना चाहिए। अगर इस सूची से बाहर की दवाओं की जरूरत पड़ती है तो मरीजों से दवा/कंज्यूमेबल की खरीद कीमत से 50 फीसदी से अधिक कीमत नहीं वसूली जा सकती है। 


मरीजों को दवा अस्पताल के अंदर से ही खरीदने पर मजबूर नहीं किया जा सकता है। जैन ने कहा कि पैकेज के माध्यम से इलाज के मामले में समिति ने सिफारिश की है कि अस्पताल मरीज को पैकेज के बारे में अच्छे से समझाएंगे। कई बार अस्पताल मरीजों से जोखिम के नाम पर पैकेज से कहीं ज्यादा कीमत वसूलते हैं।
कीवर्ड निजी अस्पताल, नर्सिंग होम, दिल्ली, स्वास्थ्य मंत्री, सत्येंद्र जैन,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक