2 लाख से अधिक अध्यापकों के संविलयन की तैयारी

बीएस संवाददाता | भोपाल May 29, 2018 09:39 PM IST

मध्य प्रदेश मंत्रिमंडल ने आज प्रदेश में अध्यापकों का शिक्षा विभाग में संविलयन करके उनका कैडर एक करने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। प्रदेश सरकार ने उन्हें सातवें वेतनमान का लाभ देने की बात भी कही। माना जा रहा है कि प्रदेश के करीब 2.30 लाख अध्यापकों को इससे फायदा पहुंचेगा। प्रदेश भर से विभिन्न संवर्गों के अध्यापक लंबे समय से इसकी मांग कर रहे थे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने तकरीबन तीन महीने पहले इस संबंध में घोषणा की थी लेकिन इस पर कोई कदम न उठाये जाने से अध्यापकों में असंतोष बढ़ रहा था। 

सरकार ने यह निर्णय भी लिया है कि भविष्य में किसी भी संविदा कर्मचारी को हटाया नहीं जाएगा। भविष्य में होने वाली नियमित भर्तियों में भी एक निश्चित प्रतिशत तक भर्तियां संविदा कर्मचारियों के बीच से की जाएंगी। उन्हें शासकीय कर्मियों को मिलने वाली अन्य सुविधाएं देने की घोषणा भी की गई। संविदा कर्मियों से जुड़ी घोषणा का लाभ भी प्रदेश के करीब 1.80 लाख संविदा कर्मियों को मिलेगा। चौहान ने कहा, 'आज का दिन ऐतिहासिक है। आज प्रदेश कैबिनेट ने उस अन्याय को समाप्त कर दिया है जो एक जमाने में कांग्रेस सरकार ने शिक्षकों के कैडर को मृतप्राय करके प्रदेश के युवाओं के भविष्य के साथ किया था।'
कीवर्ड मध्य प्रदेश, मंत्रिमंडल, मुख्यमंत्री, शिवराज सिंह चौहान,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक