उप्र में कूड़े से पैदा होगा जैव ईंधन

बीएस संवाददाता | लखनऊ Jun 03, 2018 09:35 PM IST

उत्तर प्रदेश सरकार कालीन नगरी भदोही में कूड़े से जैविक ईंधन तैयार करने का संयंत्र लगाएगी। राज्य में इस संयंत्र से पूर्वी उत्तर प्रदेश के उद्योगों और घरेलू उपभोक्ताओं को जैव ईंधन की आपूर्ति की जाएगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को भदोही में कई परियोजनाओं के लोकार्पण और शिलान्यास के अवसर पर इसकी घोषणा की। मुख्यमंत्री ने 86 करोड़ रुपये मूल्य की 106 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। पूर्वी उत्तर प्रदेश के औद्योगिक विकास को गति देने के लिए भदोही में कूड़ा से बनने वाला जैव ईंधन संयत्र स्थापित किया जाएगा। सरकार इस परियोजना पर 1,200 करोड़ रुपये खर्च करेगी।
 
इस मौके पर आयोजित रैली में आदित्यनाथ ने विपक्षी दलों पर जमकर हमला बोला। उनके भाषण में कैराना और नूरपूर में मिली हार का दर्द भी भदोही में झलका। उन्होंने कहा कि वे जातिवाद और परिवारवाद से इतर काम करते हैं तब भी उनको इसका श्रेय नहीं मिलता हैं। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कांग्रेस, बसपा और सपा ने विकास नहीं किया, जबकि मोदी सरकार में सबसे ज्यादा विकास के कार्य हुए। योगी ने कहा कि भाजपा को कुछ लोग दलित विरोधी कहते है, लेकिन उनकी पार्टी सभी वर्गों के लिए काम कर रही है। मुख्यमंत्री ने एक तरह से लोगों से सवाल किया कि जब उनकी पार्टी सभी तरह के भेदभाव से ऊपर उठकर काम करने के बाद भी उनकी सरकार को श्रेय क्यों नहीं मिलता है। 
 
मुख्यमंत्री ने भदोही में 34.60 करोड़ रुपये, औराई विधानसभा में 11.23 करोड़ और ज्ञानपुर में 22.49 करोड़ रुपये मूल्य की परियोजनाओं का लोकार्पण किया। औराई में 1, ज्ञानपुर में 8 और भदोही में 3 परियोजनाओं का लोकार्पण किया गया। मुख्यमंत्री ने ज्ञानपुर में 6.49 करोड़ रुपये लागत से पशु अस्पताल पॉली क्लिनिक का भी शिलान्यास किया। 
कीवर्ड uttar pradesh, bio, fuel,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक