वाहन कंपनियों को लुभाने के लिए बिहार सरकार करेगी 'रोडशो'

सत्यव्रत मिश्रा | पटना Jun 08, 2018 09:45 PM IST

बिहार सरकार की नजर अब ऑटोमोबाइल क्षेत्र की कंपनियों पर टिक गई है। राज्य सरकार ने देश की दिग्गज ऑटो कंपनियों और कल-पुर्जा निर्माण कंपनियों को लुभाने के लिए हरियाणा और महाराष्ट्र में 'रोडशो' आयोजित करने का फैसला किया है। साथ ही, इन कंपनियों को उद्योग विभाग ने आसानी से जमीन उपलब्ध कराने का वादा भी किया है।   राज्य सरकार के अधिकारियों के मुताबिक उन्हें आने वाले वक्त में इस उद्योग से खासी उम्मीद है। उद्योग विभाग के प्रधान सचिव एस सिद्धार्थ ने बताया, 'इस उद्योग पर लंबे समय से हमारी नजर रही है। राज्य में हर साल लाखों वाहन बिकते हैं। साथ ही, बिहार में ई-वाहनों का बहुत बड़ा बाजार है। ऐसे में बिहार एक आकर्षक बाजार है। साथ ही, हम पूर्वी और मध्य भारत के राज्यों में आसान पहुंच उपलब्ध कराते हैं। इसके अलावा, हम राज्य में इलेक्ट्रॉनिक वाहनों के लिए भी अलग से नीति बनाने वाले हैं। अपनी इन खूबियों को हम ऑटो और कल-पुर्जा बनाने वाली कंपनियों को बताएंगे। इसके लिए हमने मानेसर और पुणे में इन कंपनियों के साथ बैठक करने का फैसला लिया है। इन बैठकों से हमें बिहार में काफी निवेश आने की उम्मीद है। इससे राज्य के औद्योगिक माहौल पर सकारात्मक असर होगा।'
 
हालांकि, अब तक विभाग ने इस बारे में तिथि पर कोई अंतिम निर्र्णय नहीं लिया है। विभाग ने खास तौर पर इस उद्योग के लिए रोहतास जिले में 70 एकड़ की जमीन भी चिह्निïत कर ली है। डेहरी इलाके में स्थित इस इस औद्योगिक पार्क में सिर्फ ऑटो और कल पुर्जा कंपनियों को जमीन मिलेगी। प्रधान सचिव ने कहा, 'इस औद्योगिक पार्क की सबसे बड़ी खूबी इसकी भौगोलिक स्थिति है। यह पार्क छह लेन के राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 2 पर स्थित है। रेलवे का अमृतसर-हावड़ा फ्रेट कॉरिडोर भी यहां से गुजर रहा है।'
कीवर्ड bihar, vehicle, car, electric, petrol, diesel,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक