निर्माण से प्रदर्शनी उद्योग का हो रहा काम तमाम

सुशील मिश्र | मुंबई Jun 10, 2018 09:47 PM IST

देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में यातायात चाक चौबंद करने चक्कर में प्रदर्शनी उद्योग की राह बंद हो रही है। पर्याप्त जगह न होने और यातायात की समस्या के कारण कई बड़ी औद्योगिक प्रदर्शनियां मुंबई से पलायन कर चुकी हैं।  आर्थिक राजधानी होने के कारण छोटी-बड़ी सभी देसी-विदेशी कंपनियों की पहली पसंद मुंबई होती है।  कंपनियां अपने उत्पादों का नेटवर्क और कारोबार बढ़ाने के लिए यहां हर साल सैकड़ों छोटी बड़ी प्रदर्शनियां करती हैं। हालांकि, कई निर्माण योजनाएं चलने से पिछले दो साल से प्रदर्शनी उद्योग मुंबई में सिकुड़ता जा रहा है। मुंबई में बड़ी प्रदर्शनियों के आयोजन का सबसे बड़ा केंद्र गोरेगांव एग्जिबिशन सेंटर है। कभी गुलजार रहने वाले इस केंद्र का लगभग आधा हिस्सा फिलहाल बंद होता है। संचालकों के अनुसार केंद्र के बाहर मेट्रो 7 का काम चल रहा है, जिससे यातायात की समस्या हमेशा बनी रहती है।
 
इंडियन एक्जिबिशन इंडस्ट्री एसोसिएशन (आईईआईए) के महासचिव भूपेंद्र सिंह के मुताबिक मुंबई सहित देश के कई बड़े शहरों में बुनियादी परियोजनाओं पर काम चल रहा है, जिससे प्रदर्शनी आदि आयोजित करने में खासी परेशानी हो रही है। प्रदर्शनी कारोबार की तेज रफ्तार और उद्योग जगत में इसकी बढ़ती महत्ता को देखते हुए सरकार ने भी इसके विकास में सकारात्मक पहल शुरू की है। मुंबई में प्रदर्शनी केंद्रों की मांग और कमी को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार नए सेंटर विकसित करने की रणनीति तैयार की है। प्रदर्शनी सेंटर तैयार करने वाली कई कपनियों के साथ मुख्यमंत्री ने बैठक भी की थी।  मैसी मुंचेन इंडिया के प्रवक्ता का कहना है कि अभी यह पहल शुरुआती दौर में है, इसलिए कुछ कहना जल्दबाजी होगी। 
कीवर्ड mumbai, industry,

  
X

शेयर बॉक्स

पर्मलिंक